‘’उत्तराखंड में मिलाए जाएंगे बिजनौर और सहारनपुर’’, जानिए इस खबर का पूरा सच

आजकल सोशल मीडिया पर एक बात बड़ी वायरल हो रही है। ये अफवाह फैलाई जा रही है कि उत्तराखंड में बिजनौर और सहारनपुर को मिलाया जाएगा। अफवाह तो यहां तक फैल गई कि मोदी सरकार ने ही इसके लिए प्लान तैयार किया है। लेकिन यहां हम आपको बता दें कि इन अफवाहों में बिल्कुल भी दम नहीं है। कुछ अफवाहों में तो पूरा राजनीतिक गणित लगाया गया है। यहां तक कि ये भी बताया गया है कि उत्तर प्रदेश के 3 जिले हरियाणा में शामिल हो सकते हैं। इसके बाद से उत्तर प्रदेश के लोगों में तो हड़कंप मचा हुआ है। लेकिन इन 5 जिलों में तो खासतौर पर बवाल मचा हुआ है। अफवाहें तो अफवाहें है, और वो कहीं तक भी उड़ जाती हैं। इन अफवाहों में यहां तक कहा गया कि उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्रियों की बैठक हो चुकी है।
साथ ही कहा गया कि इसमें सचिव स्तर की बैठक होना बाकी है। अफवाहों में कहा गया कि उत्तर प्रदेश के सहारनपुरऔर बिजनौर अब उत्तराखंड में शामिल होंगे। इसके साथ ही यूपी के शामली, मुजफ्फरनगर और मेरठ जिलों को हरियाणा में शामिल किया जाएगा। इसके पीछे तर्क दिया जा रहा है कि इससे यूपी के विभाजन की मांग भी खत्म हो जाएगी और हरित प्रदेश वाला मुद्दा भी खत्म हो जाएगा। यूपी के के ये पांच जिलो यानी सहारनपुर, बिजनौर, शामली, मुजफ्फरनगर और मेरठ जिलों में सबसे ज्यादा दलित और अल्पसंख्यक आबादी रहती है। इसलिए अफवाहों में ये भी कहा जा रहा था कि ऐसा होने से यूपी की दो पार्टियां सपा और बसपा कमजोर हो जाएंगी। अफवाह को सही ठहराने के लिए ना जाने कितनी मनगढ़ंत बातों का जाल बुना गया।
आखिरकार अब उत्तराखंड सरकार ने इन अफवाहों पर विराम लगा दिया है। उत्तराखंड में यूपी के दो जिले मिलाने की अफवाह को लेकर सरकार का बयान आया है। सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशक ने मीडिया से बात के दौरान बताया कि किसी भी जिले को जोड़ने या हटाने का कोई इरादा नहीं है। उन्होंने अपील की है कि उत्तराखंड की जनता सोशल मीडिया की अफवाहों पर ध्यान न दें। मदन कौशिक का कहना है कि ऐसा सरकार किसी भी हाल में नहीं करेगी और जो लोग अफवाहों का बाजार गर्म कर रहे हैं, उनसे अपील है कि ऐसा बिल्कुल ना करें। वैसे हमारी भी आपसे अपील है कि अफवाहों पर बिल्कुल भी ध्यान ना दें। जब भी सरकार कोई इस तरह का फैसला लेगी तो आप तक इसकी जानकारी भी जरूर देगी।

No comments